झूठे दुष्कर्म मामले में फंसाने की धमकी देकर करती थी ब्लेकमेल, पुलिस ने दबोचा

राजस्थान पुलिस ने रेप का आरोप लगाकर ब्लैकमेल करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया। दो महिलाओं सहित चार लोगों को दिल्ली से
गिरफ्तार किया है।
पुलिस उपायुक्त साउथ विकास पाठक ने बताया कि अशोक नगर थाना इलाके में घरेलू हेल्पर के रूप में काम करने वाली एक महिला ने आठ अगस्त को शौर्य नाम के युवक पर दुष्कर्म कर गर्भवती बनाने का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया था।

इसके बाद महिला की एक रिश्तेदार के पति सौरभदास ने आरोपी शौर्य के पिता वीरेन कटारिया से राजीनामा कराने के लिये दबाव बनाया और राजीनामे के लिए 50 लाख रूपये की मांग की। सौरभदास दिल्ली के खानपुर इलाके में प्लेसमेंट सर्विस का ऑफिस चलाता है।

पुलिस के अनुसार सौरभदास ने कई तरीके से डरा धमका कर वीरेन कटारिया से लगातार राजीनामा के लिये पैसे की मांगे। वीरेन कटारिया ने ब्लैकमेलिंग का मामला दर्ज कराकर विगत 21 अगस्त को राजीनामे के लिये सौरभदास से 22 लाख रूपये में सौदा तय किया। इसके तहत तीन लाख रूपये 22 अगस्त को दिल्ली में अपोलो अस्पताल के आसपास लेना तथा बाकी 19 लाख रूपये आरोप लगाने वाली महिला द्वारा आरोपी के पक्ष में बयान देने के बाद देना तय हुआ।
पाठक ने बताया कि स्पेशल टीम ने दिल्ली पुलिस के सहयोग से अपोलो अस्पताल परिसर में यह राशि लेते हुए सौरभदास, जगदेव बेहुरिया (46), उसकी पत्नी लक्ष्मी उर्फ आशा (42) और फरीदाबाद निवासी विमलादेवी (50) को गिरफ्तार कर लिया। सौरभदास तथा विमला देवी कई सालों से घरेलू सहायिका अरेंज कराते थे और दिल्ली में एक स्वयंसेवी संस्थान भी चलाते है। आरोपियों से पूछताछ जारी है।

Read more