सरकारों को चाहिए की समाजसेवी संस्थाओं पर ध्यान दें- अल्का चौधरी

मानव सेवा में समर्पित विभिन्न समाज सेवी संस्थाओं का काम है की वो शोषित और पीड़ितों की बाहैसियत मदद दें और उनके दुखों में उनके साथी बनें। पूरे भारतवर्ष में इस तरह की स्वयंसेवी और समाजसेवी संस्थाओं की गिनती हज़ारों में हैं जो अलग अलग क्षेत्रों में अपनी तरह के कार्यों में रत हैं,और भारत के विकास में बाधा बन रही अनेकों समस्याओं का हल ढूंढ कर गरीबों और पीड़ितों की सहायता कर रही हैं। ऐसी ही बहोत सी संस्थाओं में एक नाम है जैन सोशियल ग्रुप।
जैन सोशियल ग्रुप की भारतवर्ष में अनेकों शाखाएं हैं जोकि समाज के अलग अलग वर्गो के उत्थान के लिए काम कर रही हैं। जैन सोशियल ग्रुप में महिलाओं के लिए भी एक मेकेनिज़्म का निर्माण किया गया है जिसका नाम ‘संगिनी सेन्ट्रल’ है और महिलाओं के लिए काम कर रही हैं।

वर्तमान में संगिनी सेन्ट्रल फोरम की अध्यक्षा अल्का चौधरी ने बताया की हमारी संस्था सिर्फ एक संस्था नहीं है ये पीड़ित दलित शोषित महिलाओं के लिए एक संबल है। चूंकि समाज में समान स्तर पर महिलाओं की मौजूदगी नहीं है और पूरे समाज में महिलाओं के लिए बराबरी का स्थान बनाने में सरकार और अनेकों महिला विकास संगठन इस काम में अपनी अपनी भूमिका निभा रहे हैं। लेकिन कई बार संस्था को भी अपनी जिम्मेदारियां निभाने में अनेक चुनौतिओं का सामना करना पड़ता है सरकार से अनुरोध है की जो संस्थाए सरकारी पंजीकरण से वंचित उनके लिए भी सरकार अपने नियम थोड़े लचीले करे और सहायता दे।

संगिनी सेन्ट्रल के संपर्क में आने वाली महिलाओं के लिए संस्था पूरे मन से अपनी जिम्मेदारी निभाती आरही है अपने सामर्थ्य के अनुसार समस्या ग्रस्त या आर्थिक तौर पर कमज़ोर महिलाओं को उनके स्वाभिमान के साथ जीने में सहायता करती हैं।

संस्था द्वारा समय समय पर पात्र महिलाओं को सिलाई मशीन, राशन,रोजगार के कोर्स उपलब्ध करवाए जाते हैं। संगिनी से संपर्क करने के लिए जैन सोशियल ग्रुप की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएं।

Read more