राम रहीम पर हत्या के दो मामलों में अलग-अलग होगी सुनवाई, हो सकती है फांसी की सजा

बलात्कार मामले में 20 साल की सजा भुगत रहे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की मुश्किलें और बढ़ सकती हैं। उनके पूर्व ड्राइवर खट्टा सिंह ने पत्रकार रामचंद्र और रणजीत सिंह की हत्या मामले में फिर से गवाही देने की बात कही है।  वहीं सीबीआई की विशेष अदालत ने सीबीआई की उस याचिका को स्वीकार कर लिया है जिसमें राम रहीम के खिलाफ हत्या के दोनों मामलों की अलग-अलग सुनवाई का फैसला लिया है।

सीबीआई के वकील एसपीएस वर्मा के अनुसार, विशेष सीबीआई कोर्ट ने दोनों मामलों पर अलग-अलग सुनवाई करने का फैसला किया है। कोर्ट रणजीत सिंह के मामले पर रोजाना आधार पर 18 सितंबर से जबकि छत्रपति हत्याकांड पर 22 सितंबर को सुनवाई करेगी। सीबीआई जज जगदीप सिंह लोहान ने दोनों मामलों में अलग-अलग सुनवाई करते हुए यह व्यवस्था दी।

ये हैं अन्य आरोपी
दोनों मामलों में डेरा प्रमुख गुरमीत समेत आठ अन्य मुख्य आरोपी हैं। छत्रपति हत्याकांड में गुरमीत के अलावा डेरा प्रबंधक कृष्ण लाल, शूटर कुलदीप सिंह और निर्मल सिंह मुख्य आरोपी हैं जबकि रणजीत हत्याकांड में अवतार, इंदरसेन, जसबीर सिंह, सबदिल सिंह और कृष्ण लाल आरोपी हैं। इनमें कृष्ण लाल छत्रपति हत्याकांड में भी आरोपी हैं।

फांसी की सजा तक हो सकती है
रणजीत और छत्रपति हत्याकांड में आरोप साबित होने पर डेरा प्रमुख गुरमीत को उम्रकैद या मौत की सजा हो सकती है। इन दो मामलों के अलावा गुरमीत के खिलाफ डेरा अनुयायियों को नपुंसक बनाने के आरोप में भी मामले चल रहे हैं।

Read more

बाइक-कार चलाने वाले भूखे नहीं मर रहे, कीमत देनी होगी पेट्रोल की: अल्फोंज

नई दिल्ली। पिछले दिनों विदेशी पर्यटकों को अपने देश से बीफ खाकर भारत आने की सलाह देने वाले केंद्रीय पर्यटन मंत्री केजे अल्फोंज का नया विवादास्पद बयान आया है। जहां देशभर में पेट्रोल की कीमतों में आग लगी है वहीं मंत्री जी का कहना है कि लोगों को यह कीमत देनी होगी।

शनिवार को दिए एक बयान में उन्होंने कहा कि कार और बाइक चलाने वाले भूखे नहीं मर रहे हैं, वो गरीब नहीं हैं। जो लोग पेट्रोल-डीजल का पैसा दे सकते हैं उन्हें देना होगा। हम गरीबों को अच्छी जिंदगी देना चाहते हैं। इसलिए हमने टैक्स लगाया, टैक्स से मिलने वाला पैसा गरीबों के लिए उपयोग होगा, हम लेकर भाग नहीं जाएंगे।

अल्फोंज ने कहा कि सरकार गरीबों के लिए कई काम कर रही है। उनके लिए घर बनाना, शौचालय बनाना, स्कूल बनाना इसके लिए बड़ी रकम की जरूरत है और इसलिए टैक्स लगाए गए हैं ताकि उन पैसों से गरीबों के लिए काम किए जा सकें। टैक्स उन पर लगाया गया है जो वहन कर सकते हैं।

Read more

राम मंदिर के पक्षकार महंत भास्कर दास का निधन, अयोध्या के तुलसी घाट पर होगा अंत‍िम संस्कार

फैजाबाद. रामजन्मभूमि के प्रमुख पक्षकार व निर्मोही अखाड़ा के सरपंच महंत भास्कर दास का लंबी बीमारी के बाद अयोध्या में निधन हो गया। बीते मंगलवार को सांस लेने में तकलीफ और ब्रेन स्ट्रोक होने के बाद उन्हें देवकाली स्थित निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया गया था। तभी से उनकी हालत नाजुक बनी हुई थी। महंत भास्कर दास की उम्र 89 साल थी। इनका अंतिम संस्कार अयोध्या में तुलसी घाट पर होगा।
 शनिवार सुबह ली आखरी सांस
– उनके उत्तराधिकारी पुजारी राम दास के बताया- मंगलवार को सांस लेने में तकलीफ व ब्रेन स्ट्रोक होने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसके बाद से ही हालत खराब होती गई। शनिवार सुबह उन्होंने आखरी सांसा ली है।
– महंत के निधन की सूचना के बाद उनके शिष्यों का जमावड़ा अयोध्या स्थ‍ित मंदिर में लगने लगा है।
– शुक्रवार को भी उनका हालचाल जानने वालों का तांता लगा रहा था। इसमें शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी, सदस्य अशफाक हुसैन जिया, रामवल्लभाकुंज के अधिकारी राजकुमारदास, महंत गिरीश दास, भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य अभिषेक मिश्र, ज्ञान केसरवानी समेत कई अन्य संतों व नेताओं ने उनके उत्तराधिकारी व नाका हनुमानगढ़ी के पुजारी रामदास से उनका हालचाल जाना।
 कौन हैं महंत भास्कर दास?
– महंत भास्कर दास गोरखपुर के रहने वाले थे। 16 साल की उम्र में वे अयोध्या की हनुमान गढ़ी पहुंचे थे। जहां वह महंत बलदेव दास निर्मोही अखाड़ा के शिष्य बने। इसी दौरान उनकी शिक्षा दीक्षा भी हुई।
– इसके बाद उन्हें राम चबूतरे पर बिठा दिया गया और पुजारी नियुक्त किया गया।
– 1986 में भास्कर दास के गुरु भाई बाबा बजरंग दास का निधन हो गया, जिसके बाद इन्हें हनुमान गढ़ी का महंत बना दिया गया।
– 1993 में महंत भास्कर दास निर्मोही अखाड़े के उपसरपंच बन गए थे। फिर 1993 में ही सीढ़ीपुर मंदिर के महंत रामस्वरूप दास के निधन के बाद उनके स्थान पर भास्कर दास को निर्मोही अखाड़े का सरपंच बना दिया गया। तब से यही निर्मोही अखाड़े के महंत रहे।
Read more

जेण्डर इक्विलिटी पर मानव श्रृंखला बना कर बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

800 से ज्यादा स्टूडेंट्स ने मिलकर बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

इंजीनियर्स डे के उपलक्ष्य में जयपुर इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी द्वारा विशाल मानव श्रृंखला बनायीं गयी जयपुर स्थित जेआईटी कैम्पस में बनी इस मानव श्रृंखला को विश्व रिकॉर्ड का दर्ज़ा देने के लिए गोल्डन बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम मौके पर थी। गोल्डन बुक ऑफ़ रिकॉर्ड के एशिया हैड डॉ मनीष विश्नोई ने ये वर्ल्ड रिकॉर्ड जेआईटी के निदेशक डॉ रवि कुमार गोयल को प्रदान की।
इस अवसर पर मिसेज हेरिटेज वर्ल्ड की ब्रांड एम्बेसेडर प्रतिमा तोतला मुख्य अतिथि रहीं।
संस्था के चैयरमैन एम् एम् अग्रवाल ने बताया की हम सब महिला सशक्तिकरण बात करतें हैं लेकिन निजी ज़िंदगी में वे कठिनाइयां महसूस करती हैं। महिलाओं को सशक्त करने के लिए हम सबको अपनी विचारधारा बदलनी पड़ेगी। लिंग भेद समाप्त करने के लिए समाज को एक सन्देश करने के लिए 800 से अधिक स्टूडेंट्स ने ह्यूमन डेपिक्शन बनाया। जेंडर इक्विलिटी विषय पर बनने वाली इस श्रृंखला के निर्माण के साथ ही पिंकसिटी का नाम इतिहास में दर्ज़ हो गया। कार्यक्रम समापन पर विद्यार्थिओं ने लैंगिक समानता पर रैली भी निकली।

कमल अग्रवाल जयपुर

Read more

सीजफायर का उल्लंघन: पाक की फायरिंग में यूपी के बलिया का BSF जवान शहीद, इस साल 48 जवानों की हो चुकी है मौत

पाकिस्तान ने एक बार फिर सीजफायर का उल्लंघन किया है। शुक्रवार को पाकिस्तान की ओर से की गई फायरिंग में जम्मू-कश्मीर के आरएसपुरा सेक्टर में बीएसएफ का एक जवान शहीद हो गया है।

बताया जा रहा है कि जम्मू-कश्मीर के आरएसपुरा सेक्टर के अरनिया सेक्टर में की गई फायरिंग में बीएसएफ का जवान बृजेन्द्र बहादुर सिंह शहीद हो गए हैं। ये कांस्टेबल यूपी के बलिया का रहने वाला है। आपको बता दें कि इस साल पाकिस्तान की तरफ से की गई फायरिंग में 48 जवान शहीद हो चुके हैं।

24 घंटे में तीसरी बार फायरिंग
पाकिस्तान ने 24 घंटे में तीसरी बार सीजफायर का उल्लंघन किया है। इससे पहले गुरुवार को पाकिस्तानी रेंजर्स ने जम्मू के अखनूर क्षेत्र के परगवाल सेक्टर में ब्राह्मण बेला और रायपुर सीमा चौकियों पर छोटे हथियारों से गोलीबारी की। ये गोलाबारी पाकिस्तान ने शाम 3.45 बजे पाकिस्तानी रेंजर्स ने अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगे क्षेत्रों में मोर्टार गोले दागे और बीएसएफ ने उसका जवाब दिया।

वहीं पाकिस्तानी सेना ने पुंछ के मानकोट, सब्जियान और दिग्वार क्षेत्रों में नियंत्रण रेखा स्थित भारतीय चौकियों पर दिन में 4 बजे के बाद फिर से गोलाबारी की थी। अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तानी सैनिकों ने हाल के दिनों में कई बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया है। इस वर्ष पाकिस्तान की ओर से संघर्षविराम के उल्लंघन की घटनाओं में काफी इजाफा हुआ है।

Read more

कैसी होगी भारत की पहली बुलेट ट्रेन, पढ़ें वो सारे सवालों के जवाब जो आप जानना चाहते हैं

नई दिल्ली: इसकी लागत 1.10 लाख करोड़ है, जिसमें 88 हजार करोड़ का कर्ज जापान देगा. इस कर्ज का ब्याज 0.1 फीसदी होगा, जिसे 50 साल में चुकाना होगा. दो महीने पहले हैम्बर्ग में जी-20 देशों की बैठक के दौरान मोदी-आबे की मुलाकात के बाद एक बार फिर दोनों देश करीब हैं

Read more