बेरोजगारी और महंगाई के विरोध में प्रधानमंत्री का पुतला फूँका

जयपुर-कांग्रेस सेवादल मुख्यालय के बाहर जयपुर शहर जिला कांग्रेस सेवादल द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूँका गया। जिसमे राजस्थान प्रदेश कांग्रेस सेवादल के प्रदेशाध्यक्ष और राजस्थान के मसूदा विधानसभा क्षेत्र से विधायक राकेश पारीक,जयपुर शहर जिला सेवादल अध्यक्ष जाकिर बुलंद खान सहित बड़ी संख्या में कोंग्रेसी कार्यकर्ता शामिल हुए।

संचार समन्वयक एवं प्रभारी मुख्यालय रामावतार शर्मा ने कहा की देश की चौपट अर्थव्यवस्था के चलते आमजन पहले ही बेरोजगारी और महंगाई की मर से त्रस्त है ऊपर से केंद्र सरकार ने रसोई गैस सिलेंडर की दरों में बेतहाशा वृद्धि करके गरीब परिवारों की कमर तोड़ दी है। ऐसे में गरीब आदमी हर तरीके से शोषण का शिकार हो रहा है। विधायक राकेश पारीक ने कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहा की राजस्थान कांग्रेस सेवादल केंद्र सरकार की जनविरोधी नीतियों के बारे में घर घर जाकर आमजन को अवगत कराएगा।

best amazon product:

Read more

Exit Poll:-2019 लोकसभा चुनावी नतीजों का आंकलन,

लोकसभा चुनाव के सभी चरण खत्म होने के बाद सबकी नजरें एग्जिट पोल पर टिक गई हैं। विभिन्न टीवी न्यूज चैनल्स और पोल एजेंसियां एग्जिट पोल (Exit Polls 2019) के आंकड़े जारी करेंगे। एग्जिट पोल विभिन्न न्यूज चैनल्स और एजेंसियों द्वारा कराए जाते हैं। इनमें जो एग्जिट पोल प्रमुख हैं, उनके नाम इंडिया टुडे-एक्सिस एग्जिट पोल (India Today- Axis Exit Poll), एबीपी न्यूज एग्जिट पोल (ABP News Exit Poll), न्यूज 18-आईपीएसओएस एग्जिट पोल (News 18 Exit Poll), टुडेज चाणक्य एग्जिट पोल (Today’s Chanakya Exit Poll), सी-वोटर एग्जिट पोल (C Voter Exit Poll)। इसके अलावा टाइम्स नाऊ-ओआरजी एग्जिट पोल (Times Now-ORG Exit Poll), रिपब्लिक टीवी एग्जिट पोल (republic tv exit poll) आदि की घोषणा होगी।

सर्वे/एजेंसी                    भाजपा+           कांग्रेस+             सपा+बसपा        अन्य
सी वोटर-रिपब्लिक           287                128                        40                 87
जन की बात-रिपब्लिक      305               124                         26                87
वीएमआर-टाइम्स नाउ      306                132                        20              84
न्यूज नेशन                        286               122                        —              134

 टाइम्स नाऊ के अनुसार, एनडीए को 306 सीटों का अनुमान, यूपीए को मिल सकती हैं 132 सीटें

इंडिया टुडे-AXIS के अनुसार, महाराष्ट्र में NDA को 38-42 सीटों का अनुमान

इंडिया टुडे के अनुसार, छत्तीसगढ़ में बीजेपी को सात से आठ सीटों का अनुमान, कांग्रेस को तीन से चार सीटों का अनुमान।

आजतक के अनुसार, राजस्थान में 23-25 सीटों पर बीजेपी की जीत का अनुमान, कांग्रेस को मिल सकती हैं 0-2 सीटें।

रिपब्लिक और जन की बात के एग्जिट पोल के अनुसार, एनडीए को मिल सकती हैं 287 सीटें, यूपीए को 128 सीटों का अनुमान।

आज तक के अनुसार, MP में BJP को मिल सकती हैं 26-28 सीटें, कांग्रेस को एक से 3 सीटों का अनुमान

लोकसभा चुनाव के सातवें चरण की 59 सीटों पर मतदान शाम छह बजते ही समाप्त हो गया है। हालांकि, जो लाइन में खड़े हैं, वे वोट डाल सकेंगे। वहीं, एग्जिट पोल के आंकड़े शाम साढ़े छह बजे से जारी होंगे।

लोकसभा चुनाव के सातवें चरण की बात करें तो झारखंड के तीन लोकसभा सीटों पर अपराह्न तीन बजे तक लगभग 64.81 प्रतिशत मतदान हो चुका है जिसमें राजमहल सीट पर 64.68 प्रतिशत, दुमका में 66.79 तथा गोड्डा में 63.30 प्रतिशत मतदान रिकार्ड किया गया है।

लोकसभा चुनाव के सातवें चरण का मतदान शाम को समाप्त होगा। इसके बाद एग्जिट पोल के नतीजे देखे जा सकेंगे।

लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में पंजाब की सभी 13 सीटों, उत्तर प्रदेश की 13, पश्चिम बंगाल की नौ, बिहार और मध्य प्रदेश की आठ-आठ, हिमाचल प्रदेश की चार, झारखंड की तीन तथा चंडीगढ़ की एक सीट पर वोट डाले जा रहे हैं। इस चरण में 10.1 करोड़ से ज्यादा मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर रहे हैं। चुनाव आयोग ने 1.12 लाख से ज्यादा मतदान केंद्र बनाए हैं और मतदान सुचारू रूप के कराने के लिए सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है।

शेयर बाजारों की दिशा इस सप्ताह एग्जिट पोल और 23 मई को आम चुनावों के नतीजों से तय होगी। इसके अलावा कुछ महत्वपूर्ण कंपनियों के वित्तीय नतीजों का भी बाजार पर असर पड़ सकता है। विश्लेषकों का कहना है कि चुनाव संबंधी घटनाक्रमों से बाजार में उतार-चढ़ाव रह सकता है। भाषा के अनुसार, एग्जिट पोल के परिणाम 19 मई को आखिरी चरण का मतदान संपन्न होने के साथ आने लगेगा। विशेषज्ञों का मानना है कि अंतिम चुनाव नतीजों तक शेयर बाजार का रुख असमंजस वाला रह सकता है। 

Read more

भाजपा के लिए खतरे की घंटी

एससी/ एसटी अत्याचार निरोधक कानून पर भाजपा में सवर्ण नेताओं की चिंता बढ़ने लगी है। भाजपा की चिंता है कि इस मामले की वजह से पार्टी का हिंदुत्व कार्ड कमजोर न पड़ जाए। पार्टी के एक सांसद ने कहा कि हिंदुत्व के मसले पर पार्टी को अगड़ी जातियों के बड़े वर्ग का समर्थन मिलता रहा है। इन जातियों का मोहभंग पार्टी के लिए खतरे की घंटी हो सकता है। करीब दर्जन भर नेताओं ने अलग अलग तरीके से पार्टी को अपना फीडबैक देकर उत्तरप्रदेश सहित कई जगहों पर पनप रहे आक्रोश की जानकारी दी है।

दुरुपयोग रोकने का भरोसा दें

पूर्व केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र के बाद कई अन्य नेताओं ने इस मामले में आलाकमान को अपना फीडबैक दिया है। बांदा से भाजपा सांसद भैरो प्रसाद मिश्र ने कहा कि एससी/एसटी कानून से लोगों को आशंका है कि इस मामले में बिना जांच के जेल हो जाएगी। उन्होंने कहा कि दहेज कानून हो, महिलाओं से छेड़छाड़ का कानून हो या फिर एससी/ एसटी कानून इसका दुरुपयोग होता रहा है। कई बार विरोधी इसे हथियार के तौर पर इस्तेमाल करते हैं। इनका दुरुपयोग रोकने का भरोसा दिया जाना चाहिए।

दिशानिर्देश जारी करे सरकार

भाजपा सांसद ने कहा कि कानून का दुरुपयोग रोकने के लिए एक स्पष्ट दिशानिर्देश जारी होना चाहिए। भाजपा सांसद ने कहा कि लोगों में गुस्सा है। यह आशंका है कि रिपोर्ट दर्ज होते ही कार्रवाई हो जाएगी। उन्होंने कहा, रिपोर्ट तुरंत दर्ज हो इसमें आपत्ति नहीं है। लेकिन रिपोर्ट दर्ज होने के बाद उचित जांच के बाद ही कोई कार्रवाई होगी यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए।

अपना दल सांसद ने कहा- जांच के बाद एफआईआर हो

सहयोगी दल अपना दल के सांसद कुंवर हरिवंश सिंह ने ‘हिन्दुस्तान’ से कहा कि एससी/ एसटी ऐक्ट में बिना जांच के एफआईआर दर्ज नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि कोई भी इसका दुरुपयोग कर सकता है। सिंह ने कहा, सरकार ने दलित सांसदों के दबाव में आकर जल्दी में सुप्रीम कोर्ट के आदेश को बदलने का फैसला किया। उन्होंने कहा पैसे लेकर कोई आरोप लगा दे और आरोपी व्यक्ति को बिना जांच के छह माह के लिए जेल भेज दिया जाएगा। सांसद ने कहा, हमने इस मामले में 9 सितंबर को अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा की बैठक बुलाई है। बैठक के निर्णय से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को अवगत कराया जाएगा। कई सांसद नाम न छापने की शर्त पर इस मामले में नुकसान की बात कर रहे हैं। एक सांसद ने कहा कि पार्टी को संतुलन के लिए तुरंत कदम उठाना चाहिए।

Read more